छठे चरण में 12 मई को बिहार में 127 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होना है। इस चरण में आठ सीटों वाल्मीकिनगर, पूर्वी चंपारण,  पश्चिम चंपारण, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सीवान एवं महाराजगंज में चुनाव होगा। इस चरण में कुल 13,963 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इस चरण में एक करोड़ 36 लाख 67 हजार 828 लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। 

चार संसदीय क्षेत्रों पूर्वी चंपारण, शिवहर, वैशाली व सीवान में दो-दो ईवीएम लगाए जाएंगे। प्रत्याशियों की संख्या 15 से अधिक होने के कारण दो-दो ईवीएम लगाने की आवश्यकता पड़ेगी। वाल्मीकिनगर में 13, पश्चिम चंपारण में 09, पूर्वी चंपारण में 22, शिवहर में 18, वैशाली में 22, गोपालगंज (सु) में 13, सीवान में 19 और महाराजगंज में 11 उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनाव आयोग के अनुसार इस चरण के चुनाव को लेकर अर्धसैनिक बलों की तैनाती की कार्रवाई शुरू हो चुकी है। पांचवें चरण वाले पांच संसदीय क्षेत्रों से सुरक्षाबलों को छठे चरण वाले मतदान क्षेत्रों में भेजा जा रहा है। इन क्षेत्रों में तलाशी, नाकेबंदी एवं छापेमारी की कार्रवाई शुरू कर दी गयी है।

राधामोहन, रघुवंश, सीग्रीवाल मैदान में 

वाल्मीकिनगर में कांग्रेस के शाश्वत केदार, जदयू के बैद्यनाथ प्रसाद महतो व बसपा के दीपक यादव,  शिवहर में राजद के सैयद फैसल अली व भाजपा की रमा देवी एवं बसपा के मुकेश कुमार झा, पूर्वी चंपारण में भाजपा के राधामोहन सिंह एवं रालोसपा के आकाश सिंह, पश्चिमी चंपारण में भाजपा के संजय जायसवाल व रालोसपा के ब्रजेश कुमार कुशवाहा, सीवान में जदयू की कविता सिंह, भाकपा माले के अमरनाथ यादव व राजद की हेना शहाब  एवं महाराजगंज में भाजपा के जनार्दन सिंह सीग्रीवाल, राजद के रणधीर सिंह, महाराजगंज में बसपा के अनिरुद्ध प्रसाद उर्फ साधु यादव, गोपालगंज में जदयू के डॉ. आलोक कुमार सुमन राजद के सुरेंद्र राम, वैशाली में राजद के डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह, लोजपा की वीणा देवी आदि के भाग्य का फैसला होना है।