उप्र लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने पीसीएस 2018 की मुख्य परीक्षा टलने के कयासों पर विराम लगाते हुए सोमवार को परीक्षा कार्यक्रम जारी कर दिया है। परीक्षा पूर्व निर्धारित तारीख 17 जून से शुरू हो रही है। 21 जून को आखिरी पेपर होगा। परीक्षा प्रयागराज और लखनऊ के केंद्रों में दो सत्रों में कराई जाएगी। इसमें 19096 अभ्यर्थियों को शामिल होना है और अब तक करीब 12000 ने आवेदन पत्र भरकर यूपीपीएससी में जमा कर दिए हैं।

यूपीपीएससी की ओर से जारी कार्यक्रम के अनुसार परीक्षा सुबह की पाली में 9:30 से 12:30 बजे तक और दूसरी पाली में दोपहर दो से शाम पांच बजे तक होगी। 17 जून को सुबह की पाली में सामान्य ङ्क्षहदी और दूसरी पाली में निबंध, 18 को सुबह की पाली में सामान्य अध्ययन-प्रथम व दूसरी पाली में सामान्य अध्ययन-द्वितीय की परीक्षा होगी। 19 को सामान्य अध्ययन-तृतीय व दूसरी पाली में सामान्य अध्ययन-चतुर्थ की परीक्षा होगी। 21 जून को इसी क्रम से ऐच्छिक विषय पेपर-प्रथम व दूसरी पाली में ऐच्छिक विषय पेपर-द्वितीय होगा। सचिव जगदीश ने कहा है कि विशेष परिस्थितियां आने पर उक्त परीक्षा कार्यक्रम में बदलाव भी हो सकता है।

 

 

 

गौरतलब है कि यूपीपीएससी की ओर से पीसीएस 2018 की मुख्य परीक्षा पहली बार आइएएस पैटर्न पर कराई जा रही है। जिसमें पाठ्यक्रम में कुछ इजाफा हुआ है और विषयों के चयन की व्यवस्था में बदलाव किया गया है। इस आधार पर उन अभ्यर्थियों की ओर से लगातार परीक्षा की तैयारी के लिए अतिरिक्त समय दिए जाने की मांग की जा रही थी जो सी-सैट प्रभावित हैं। लेकिन, परीक्षा के लिए पहले तो आवेदन पत्र भरने की प्रक्रिया शुरू करने और सोमवार को परीक्षा कार्यक्रम जारी होने से यह मांग खारिज हो गई है।  

जीएस 200 और निबंध व सामान्य हिंदी के प्रश्नपत्र 150 अंक के

 

पीसीएस (मुख्य) परीक्षा 2018 पहली बार केंद्रीय सिविल सेवा परीक्षा के पैटर्न पर होगी। मुख्य परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों के लिए उप्र लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने दिशा निर्देश वेबसाइट पर जारी किया है। अनिवार्य विषयों के पूर्णांक की जानकारी भी उपलब्ध कराई गई है। मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन सात मई से शुरू हुए हैं और 16 तक होंगे। यूपीपीएससी के अनुसार अनिवार्य विषय में सामान्य हिंदी और निबंध के प्रश्नपत्र 150-150 अंकों के, सामान्य अध्ययन के चारों प्रश्नपत्र दो-दो सौ अंकों के होंगे।

वैकल्पिक विषय 34 रहेंगे जिनके कोड समेत विषय वेबसाइट www.uppsc.up.nic.in पर उपलब्ध करा दिए गए हैं। समूह-एक (एक्जीक्यूटिव) में डिप्टी कलेक्टर और डिप्टी एसपी समेत 23 प्रकार के पद होंगे। समूह-एक (एक्जीक्यूटिव) में सम्मिलित अर्हता वाले पद सहायक श्रमायुक्त, उपनिबंधक, जिला प्रोबेशन अधिकारी, सहायक निदेशक उद्योग (हथकरघा) व सहायक निदेशक उद्योग (विपणन) और सहायक नियंत्रक विधिक माप विज्ञान, ग्रेड-एक तथा सहायक नियंत्रक विधिक माप विज्ञान ग्रेड-दो होंगे। इसके अलावा समूह दो, समूह तीन, समूह चार, समूह पांच, समूह छह और समूह सात वाले पदों की अर्हता की जानकारी भी दी गई है। मुख्य परीक्षा प्रयागराज और लखनऊ में होगी।

 

भाषा चयन में गड़बड़ी पर कटेंगे अंक

अभ्यर्थी प्रश्नों के उत्तर हिंदी (देवनागरी लिपि) या अंग्रेजी (रोमन लिपि) में दे सकते हैं। लेकिन, किसी भी प्रश्नपत्र के सभी प्रश्नों के उत्तर उपर्युक्त में से किसी एक ही भाषा माध्यम में देना आवश्यक है। यूपीपीएससी ने कहा है कि एक प्रश्नपत्र का उत्तर एक लिपि और दूसरे का उत्तर दूसरी लिपि में देने वाले अभ्यर्थियों के अंकों में कटौती की जाएगी।

हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है |