• ममता बनर्जी, कुमारस्वामी, तेजस्वी, येचुरी, आप नेता संजय सिंह, कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने ईवीएम पर सवाल उठाए
  • कुमारस्वामी ने कहा- ईवीएम में फर्जीवाड़े की आशंका, इसे विकसित देशों ने भी बैन किया

लोकसभा चुनाव के 10 में से 9 एग्जिट पोल्स में एनडीए को बहुमत के अनुमान के बाद 7 विपक्षी दलों ने ईवीएम पर सवाल उठाए हैं। आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व में विपक्षी दल के नेता मंगलवार को चुनाव आयोग से मुलाकात करेंगे। माना जा रहा है कि वे आयोग से मांग करेंगे कि मतगणना के दिन ईवीएम का मिलान 50% वीवीपैट की पर्चियों से किया जाए।

नायडू के अलावा, प.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आप नेता संजय सिंह, कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी, कांग्रेस नेता राशिद अल्वी, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, राजद नेता तेजस्वी यादव ने भी एग्जिट पोल और ईवीएम पर सवाल उठाए।

फोन टैप करने की तरह ही ईवीएम से छेड़छाड़ करना आसान : नायडू

चंद्रबाबू ने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताई है। उन्होंने कहा, ‘फोन टैप करने की तरह ही ईवीएम से छेड़छाड़ करना आसान है। विपक्ष को एकजुट करने के प्रयास में लगे चंद्रबाबू ने कहा कि ईवीएम को लेकर कई तरह की अफवाहें चल रही हैं। दिल्ली में कुछ लोेग कह रहे हैं कि ईवीएम और कंट्रोल यूनिट बदली जा रहीं हैं। कुछ कह रहे हैं कि हम फ्रीक्वेंसी की मदद से बाहर से ही सभी वोट बदल सकते हैं। सभी पार्टियां इस सोच में हैं कि कैसे ईवीएम को बचाया जाए।’

ईवीएम में फर्जीवाड़े की आशंका : कुमारस्वामी

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने एग्जिट पोल पर सवाल उठाए हैं। कुमारस्वामी का कहना है कि एग्जिट पोल के जरिए भाजपा छोटे दलों को 23 मई के नतीजों से पहले ही लुभा रही है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘सभी विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन में ईवीएम की विश्वसनीयता पर चिंता जाहिर की थी। विपक्षी दल सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे और बैलेट पेपर से चुनाव की मांग की थी, ताकि दोषपूर्ण ईवीएम से बचा जा सके, क्योंकि इसमें फर्जीवाड़े की आशंका है। पूरी दुनिया यहां तक कि विकसित देशों में भी बैलेट पेपर से चुनाव कराए जा रहे हैं।’

मैं एग्जिट पोल पर भरोसा नहीं करती हूं : ममता
ममता ने कहा, ‘’मैं एग्जिट पोल पर भरोसा नहीं करती हूं। खेल यह है कि बातों में उलझाकर ईवीएम को बदला जाए। मैं सभी पार्टियों से अपील करती हूं कि वे एक साथ रहें। हम साथ मिलकर यह लड़ाई जीतेंगे।’

एग्जिट पोल का खेल पुराना : तेजस्वी
राजद नेता तेजस्वी यादव ने लोकसभा चुनाव को लेकर आए एग्जिट पोल को लेकर लिखा, ‘बाजार की अपनी मजबूरियां एग्जिट पोल के नाम से बेची जाती हैं। संघ समर्थित संस्थानों और संसाधनों की मदद से वंचितों के मनोविज्ञान से खेलना इनका पुराना हथियार है। इसे खारिज करें। हम जीत रहे है। स्ट्रॉन्ग रूम पर कड़ी निगरानी रखे। गंदे खेल के माहिर लोगों की चाल कामयाब ना हो।’

पोल जैसे नतीजे आए तो इसका अर्थ है कि ईवीएम में धांधली हुई : कांग्रेस
कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने एक टीवी चैनल में चर्चा के दौरान ईवीएम पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि एग्जिट पोल के नतीजे अगर सही रहते हैं तो इसका सीधा अर्थ है कि ईवीएम में धांधली की गई है। सभी एग्जिट पोल लगभग एक ही नतीजे दे रहे हैं, ऐसे में उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

ईवीएम-वीवीपैट मिलान में अंतर रहने पर सभी वीवीपैट की गिनती हो : येचुरी

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा, ‘वीवीपैट और ईवीएम में अंतर रहने की स्थिति के बारे में चुनाव आयोग ने अब तक प्रक्रिया निर्धारित नहीं की है। एक भी ईवीएम, वीवीपैट मिलान में अंतर रहने पर चुनावी प्रक्रिया की सत्यनिष्ठा बरकरार रखने के लिए निर्वाचन क्षेत्र में सभी वीवीपैट की गिनती होनी चाहिए।’

चुनाव रद्द किया जाना चाहिए : संजय सिंह

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने मांग की है कि वीवीपैट और ईवीएम की गणना में यदि कोई गड़बड़ मिलती है तो चुनाव रद्द किया जाना चाहिए। सिंह ने यह मांग पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ट्वीट के जवाब में कही। इसमें उन्होंने एग्जिट पोल को गॉसिप बताते हुए विपक्षी पार्टियों को एकसाथ रहने की अपील की थी।


संजय सिंह ने कहा, ‘क्या यह ईवीएम का पूरा गेम है? क्या यह एग्जिट पोल पैसे लेकर किए गए थे? आखिर यह कैसे संभव है कि बिहार, मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, दिल्ली और पश्चिम बंगाल समेत बाकी जगहों पर भी भाजपा की जीत दिखाई गई है?’

 

 

हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है |

हिंदी समाचार से जुड़े किसी भी समाचार को अब आप सीधे अपने व्हाट्स एप पर पाने के लिए यंही लिंक पे क्लिक करे