• एथलीट एलिसन फेलिक्स ने नाइकी के मातृत्व अवकाश नीति पर सवाल उठाए थे

  • फेलिक्स छह ओलिंपिक गोल्ड मेडल जीतने वाली इकलौती महिला एथलीट हैं

 अमेरिकी स्पोर्ट्स कंपनी नाइकी ने अपनी मातृत्व अवकाश नीति में बदलाव करने का फैसला किया है। कंपनी स्पॉन्सर्ड एथलीट्स को प्रेगनेंट होने पर जुर्माना लगाता था। अमेरिका की कई एथलीट्स ने इसका विरोध किया। छह ओलिंपिक गोल्ड मेडल जीतने वाली इकलौती ट्रैक एंड फील्ड एथलीट एलिसन फेलिक्स ने नाइकी के इस नीति के खिलाफ विरोध जताया था। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, जो एथलीट बच्चे पैदान करना चाहती हैं उन पर नाइकी 12 महीने तक प्रदर्शन के आधार पर जुर्माना नहीं लगाएगा।

फेलिक्स 2018 में गर्भवती हुई थीं

 

नाइकी की प्रवक्ता सैंड्रा केरोएन जॉन ने कहा, हमें लगता है कि नाइकी स्पोर्ट्स इंड्रस्ट्री में महिलाओं का बेहतर तरीके से समर्थन कर सकता है और बाकियों के लिए भी उदाहरण पेश कर सकता है।" इससे पहले फेलिक्स ने कहा था कि जब वे 2018 में प्रेगनेंट हुईं थीं तब नाइकी ने काफी कम पैसे का अनुबंध पेश किया था।

 

 

अमेरिकी टीम शामिल एलिक्स की साथी एलेसिया मोंटानो और कारा गोचर ने भी नाइकी पर ऐसे ही आरोप लगाए थे। दिसंबर में एक बच्ची को जन्म देने वाली फेलिक्स ने लिखा, "एथलीट्स जानते हैं कि यह सच है, लेकिन सार्वजनिक रूप से बताने से डरते हैं। अगर हमारे बच्चे हैं, तो हम अपने प्रायोजकों से कटौती का जोखिम लेते हैं।"

 

 

फेलिक्स ने कहा, "अनुबंध की चिंता किए बगैर मैने गर्भवती होने का फैसला किया। नाइकी के साथ उनका अनुबंध 2017 में खत्म हो गया था। गर्भावस्था के दौरान कंपनी ने कम कीमत पर अनुबंध की पेशकश की। अगर मैं नाइकी से प्रायोजित एथलीट हूं तो क्या वे मुझे सुरक्षा नहीं देंगे?"

 

हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है