• एनडीए-2 का सरकार के पहले सत्र में 5 जुलाई में आम बजट पेश किया जाएगा

  • प्राेटेम स्पीकर वीरेंद्र कुमार पहले दो दिन नवनिर्वाचित सदस्याें काे शपथ दिलाएंगे

  • संसद का सत्र 39 दिन चलेगा, 30 बैठकें निर्धारित; ट्रिपल तलाक, जम्मू-कश्मीर आरक्षण विधेयक आएगा

  • इस सत्र में 10 अध्यादेश पास कराना जरूरी, 46 विधेयक दोबारा पेश होंगे

17वीं लोकसभा के पहले सत्र में साेमवार और मंगलवार को नवनिर्वाचित सांसद शपथ लेंगे। इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वीरेंद्र कुमार को प्राेटेम स्पीकर पद की शपथ दिलाई। कुमार मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ से सांसद हैं। 19 जून को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव हाेगा। 20 जून को राष्ट्रपति लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनाें की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। इसी दिन राज्यसभा के सत्र की शुरुआत हाेगी। संसद का यह सत्र 26 जुलाई तक चलेगा। 5 जुलाई को पहली बार महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी।

इसमें तीन तलाक समेत कई महत्वपूर्ण बिल भी पेश किए जाएंगे। इस सत्र में पिछली सरकार के समय लागू 10 अध्यादेशों को रद्द कर उनके स्थान पर विधेयक पास कराना भी जरूरी है। साथ ही पिछली लोकसभा के साथ रद्द हो चुके 46 विधेयकों को भी आवश्यक बदलाव करके लाया जाएगा। हालांकि, इस बारे में राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद ही सरकार स्थिति स्पष्ट करेगी।

4 जुलाई को आर्थिक सर्वेक्षण, 5 जुलाई को आम बजट

17 जून: साेमवार काे 17वीं लाेकसभा के पहले सत्र की शुरुआत हाेगी। 18 जून: पहले 2 दिन प्राधानमंत्री समेत 543 नए सांसदों की शपथ होगी।  19 जून: नए लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा। यह 17वां स्पीकर होगा। 20 जून: लोकसभा और राज्यसभा के संयुक्त सत्र में राष्ट्रपति का संबाेधन। 4 जुलाई: वित्त मंत्रालय का आर्थिक सर्वेक्षण आएगा। 5 जुलाई: नई सरकार का पहला आम बजट आएगा। 

अध्यक्षता काैन करेेगा

लाेकसभा का सबसे वरिष्ठ सदस्य प्राेटेम स्पीकर बनता है। हालांकि इस बार ऐसा नहीं हुआ है। इस बार वीरेंद्र प्राेटेम स्पीकर हैं। वे 7वीं बार लाेकसभा पहुंचे हैं। प्राेटेम स्पीकर की अध्यक्षता में ही लाेकसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुना जाता है।

स्पीकर का चुनाव

बहुमत दल का सदस्य ही बनता है लाेकसभा का काेई भी सदस्य किसी का नाम प्रस्तावित करता है। उसकाे सहमति से या वोटिंग के जरिए चुना जाता है। इस बार सरकार को पूर्ण बहुमत है, इसलिए जिसका भी नाम प्रस्तावित किया जाएगा, वही अध्यक्ष बनेगा।

ये अहम बिल लाएगी सरकार

 

  • केंद्रीय शैक्षणिक संस्थान (शिक्षक संवर्ग में आरक्षण) विधेयक 2019। 
  • आधार और अन्य कानून (संशोधन) विधेयक 2019। 
  • मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) या ट्रिपल तलाक विधेयक 2019।   
  • जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक 2019।
  • अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता केेंद्र विधेयक 2019।
  • विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र (संशोधन) विधेयक 2019।
  •