तमाम विरोध एवं विवादों के बीच उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने उत्तर प्रदेश न्यायिक सेवा सिविल जज (जूनियर डिविजन) मुख्य परीक्षा 2018 में सफल अभ्यर्थियों का साक्षात्कार कार्यक्रम बुधवार को जारी कर दिया। पीसीएस जे 2018 मेन्स में सफल अभ्यर्थियों के इंटरव्यू 21 जून से 17 जुलाई तक कराए जाएंगे।
रोल नंबर 000011 से 002200 तक के अभ्यर्थियों के साक्षात्कार 21 जून, 002210 से 005387 तक 22 जून, 005391 से 008411 तक 24 जून, 008453 से 011275 तक 25 जून और 011280 से 015140 तक के अभ्यर्थियों के साक्षात्कार 26 जून को होंगे। 

परीक्षा नियंत्रक बृजेन्द्र कुमार द्विवेदी ने सफल अभ्यर्थियों को सूचित किया है कि वेबसाइट पर उपलब्ध साक्षात्कार ज्ञाप आयोग के साथ भेजे गए आवेदन पत्र, प्रमाणीकरण प्रपत्र समेत अन्य दस्तावेज के साथ नियत तिथि पर आयोग परिसर में यमुना भवन में पहुंचना सुनिश्चित करें।

चीफ जस्टिस को पत्र भेजकर लगाई गुहार
प्रयागराज। प्रतियोगी छात्रों ने हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र भेजकर पीसीएस जे 2018 के परिणाम पर सवाल उठाए हैं और उनसे हस्तक्षेप का अनुरोध किया है। न्यायिक सेवा प्रतियोगी छात्र के आशीष पटेल ने कहा कि इस परीक्षा का प्रश्नपत्र भी कौशिक के प्रेस में छापे गए थे। मुख्य परीक्षा में लगातार पिछले दो-तीन बार से इंटरव्यू दे रहे अभ्यर्थियों का बाहर होना और कुछ सफल अभ्यर्थियों के रोल नम्बर प्रारंभिक परीक्षा व मुख्य परीक्षा में एक क्रम से होना भ्रष्टाचार को इंगित करता है। कॉपियां अभ्यर्थियों को ना दिखाए जाने के नियम के कारण इस परीक्षा में भ्रष्टाचार और अनियमितता को बल मिलता है। निवेदन किया है कि लोक सेवा आयोग की अनियमितता का स्वत: संज्ञान ले उचित कार्यवाही करने की कृपा करें।

एलटी ग्रेड परीक्षा का परिणाम घोषित करने को प्रदर्शन-फोटो है
प्रयागराज। राजकीय विद्यालयों में एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती का रिजल्ट जल्द जारी करने और सत्यापन शुरू करने की मांग को लेकर अभ्यर्थियों ने बुधवार को लोक सेवा आयोग पर धरना दिया और जमकर नारेबाजी की। छात्रों ने मुख्यमंत्री को संबोधित मांगपत्र भेजा। एलटी जीआईसी मोर्चा के अध्यक्ष विक्की खान का कहना है कि अगर कोई भी निर्णय एलटी ग्रेड परीक्षा के विरुद्ध जाता है तो प्रदर्शन को और अधिक तीव्र किया जाएगा। इस अवसर पर कुलदीप, कुसुम यादव, अनुज्ञा दिवेदी, अभिलाषा पांडेय, अपर्णा, नितिन चौधरी, रोहित सिंह, जगदीश पटेल, दुर्गेंद्र सिंह, सर्वेश सिंह आदि रहे।