प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी 20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने जापान के ओसाका में हैं। ओसाका में जी 20 समिट के इतर ब्रिक्स देशों की बैठक हुई। इस दौरान ब्रिक्स देशों के सभी राष्ट्राध्यक्ष मौजूद रहें। इस दौरान पीएम मोदी ने आतंकवाद का मुद्दा उठाया। ब्रिक्स देशों की बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है। आतंकवाद न केवल मासूमों की जान लेता है, बल्कि यह आर्थिक विकास और सांप्रदायिक सद्भाव को बुरी तरह से प्रभावित करता है। हमें आतंकवाद और नस्लवाद के समर्थन के सभी माध्यमों को रोकना होगा। बता दें कि यह जी 20 सम्मेलन से इतर अनौपचारिक बैठक थी। 

जापान के ओसाका में ब्रिक्स देशों के नेताओं के बीच हुई मुलाकात। इस दौरान ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, पीएम नरेंद्र मोदी, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफौसा मौजूद रहे।

बता दें कि इससे पहले जापान के ओसाका में जी-20 सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच मुलाकात हुई। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इस बैठक में पीएम मोदी और ट्रंप में चार मुद्दों मसलन, ईरान, 5जी, द्विपक्षीय संबंध और रक्षा पर बातचीत हुई। इस मुलाकात के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को लोकसभा चुनाव में जीत के लिए बधाई भी दी। मोदी और ट्रंप के बीच यह बैठक इसलिए भी अहम है क्योंकि काफी समय से दोनों देशों के बीच टैरिफ को लेकर विवाद जारी है।

गौरतलब है कि जी20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए पीएम मोदी जापान के ओसाका में गए हुए हैं। जापान में पीएम मोदी का भारतीय समुदाय ने गर्मजोशी से स्वागत किया। साथ ही पीएम मोदी का उनके जापानी समकक्ष शिंजो अबे ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया था। बुलेट ट्रेन परियोजना और भगोड़े आर्थिक अपराधियों सहित कई विषयों पर चर्चा के लिए दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय शिखर बैठक की थी।

भारत-अमेरिका के बीच बैठक में राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा कि 'हम लोग काफी अच्छे दोस्त हो गए हैं, हमारे देशों में इससे पहले कभी इतनी नजदीकी नहीं हुई। मैं ये बात पूरे भरोसे से कह सकता हूं। हम लोग कई क्षेत्रों में खासकर मिलिटरी में मिलकर काम करेंगे। आज हमलोग कारोबार के मुद्दे पर भी बात कर रहे हैं।'