• एटीएस का आरोप है कि पिछले कई दिनों से जानकारी मिल रही थी कि दंपति देश विरोधी कामों और नक्सली गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं. इनपुट के आधार पर एटीएस की टीम ने सोमवार को यूपी और एमपी में एक साथ छापेमारी की

 

उत्तर प्रदेश की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) की टीम ने नक्सली विचारधारा के आरोप में पति और पत्नी को भोपाल से गिरफ्तार किया है. एटीएस का आरोप है कि पिछले कई दिनों से जानकारी मिल रही थी कि दंपति देश विरोधी कामों और नक्सली गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं.

जिसके बाद इनपुट के आधार पर एटीएस की टीम ने काफी दिन तक मामले की पड़ताल की और 8 जुलाई को एक साथ यूपी और एमपी में छापेमारी की गई. एटीएस ने मध्य प्रदेश के भोपाल में भी छापेमारी की और वहां से एक पति और पत्नी को गिरफ्तार किया है. पति मनीष श्रीवास्तव और पत्नी वर्षा पहचान छुपाकर भोपाल में रह रहे थे, दोनों यूपी के जौनपुर के रहने वाले हैं.

एटीएस का आरोप है कि गिरफ्तार दंपति ने कई फर्जी पहचानपत्र बनवाए थे. एटीएस का कहना है कि दोनों के पास से कई नक्सली साहित्य और अन्य सामान बरामद हुआ है. एटीएस के मुताबिक मनीष और वर्षा झारखंड, तेलंगाना, मध्य प्रदेश में घूमते थे. बताया जा रहा है कि दोनों कोई काम नहीं करते और उन्हें किसी जगह से फंडिंग हो रही थी. एटीएस दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी. जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

वहीं एटीएस की टीम ने यूपी में 4 जगहों पर रेड की और 6 लोगों से लंबी पूछताछ की गई. शक के दायरे में शामिल इन लोगों के मोबाइल, लैपटॉप जब्त करने के बाद छोड़ा गया. हालांकि सबूत मिलने के बाद गिरफ्तार किया जाएगा.

एटीएस सूत्रों के मुताबिक जिन 6 लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ा गया है, उनमें से एक शख्स 2010 में नक्सल लिंक के आरोप में गिरफ्तार हो चुका है. एटीएस को यकीन है कि जिन 6 लोगों के मोबाइल और लैपटॉप जब्त किए गए हैं, उनसे कई बड़े खुलासे हो सकते हैं.

हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है