प्रतीकात्मक फोटो।

 

  • स्पाइस जेट के पायलटों पर लैंडिंग के दौरान रनवे किनारे लगी लाइट्स को नुकसान पहुंचाने का आरोप
  • डीजीसीए ने दोनों पायलटों को शोकॉज नोटिस जारी किया, संतोषजनक जवाब न मिलने पर कार्रवाई की

 

डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने मंगलवार को स्पाइस जेट के दो पायलटों को सस्पेंड कर दिया। दोनों पर कोलकाता में लैंडिंग के दौरान रनवे किनारे लगी लाइट्स को नुकसान पहुंचाने का आरोप था। एक अन्य मामले में पायलट और केबिन क्रू के बीच हाथापाई होने की बात सामने आई। इन्हें भी सस्पेंड कर दिया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक- स्पाइस जेट के पायलट कैप्टन सौरभ गुलिया और आराती गुणसेकरण ने 2 जुलाई को कोलकाता में लैंडिंग के दौरान रनवे के किनारे पर लगी लाइट्स को नुकसान पहुंचाया था। दोनों पायलट पुणे-कोलकाता रूट पर बी737 एयरक्राफ्ट उड़ा रहे थे। उन्हें शोकॉज नोटिस जारी किया गया। मगर डीजीसीए को दोनों का जवाब संतोषजनक नहीं मिला।

एक अन्य मामला एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या ए319 से जुड़ा है। बेंगलुरु-कोलकाता रूट पर उड़ान भरने से ठीक पहले पायलट कैप्टन मिलिंद और केबिन क्रू रजत वर्मन के बीच हाथापाई हुई। मामले की जांच में दोनों दोषी पाए गए। इन्हें भी शोकॉज नोटिस जारी किया गया मगर संतोषजनक जवाब न मिलने पर सस्पेंड किया गया।    

डीजीसीए के आदेश के मुताबिक चारों दोषियों को घटना के दिन से छह महीने के लिए सस्पेंड कर दिया गया।

हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है

  •