• बिहार के मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा- मांझी ओछी राजनीति के लिए आजम का समर्थन कर रहे
  • राजद ने आजम से कहा- अगर महिला को लगता है कि उनका अपमान हुआ तो सॉरी बोलकर विवाद खत्म करें
  • आजम खान ने गुरुवार को लोकसभा में भाजपा सांसद रमा देवी के लिए अभद्र टिप्पणी की थी

 

लोकसभा में स्पीकर की कुर्सी पर बैठीं भाजपा सांसद रमा देवी पर की आजम खान की टिप्पणी का हर कोई विरोध कर रहा है। लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी रविवार को सपा सांसद आजम के समर्थन में उतर आए। मांझी ने कहा कि अगर भाई, बहन और मां, बेटे को चूमती है तो इसमें कोई बुराई नहीं। कोई यह कहे कि आप मेरी प्यारी बहन हैं तो इसका दूसरा अर्थ निकालना गलत है। आजम को इस्तीफा नहीं देना चाहिए।

बीते गुरुवार को तीन तलाक बिल पर चर्चा के दौरान आजम खान ने महिला सांसद के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था। जिस पर भाजपा नेताओं और स्पीकर ओम बिड़ला ने उनसे सदन में माफी की मांग की थी, लेकिन आजम सदन से बाहर चले गए थे। इस दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उनके बचाव में कहा था कि सपा सांसद ने गलत मंशा से कोई बयान नहीं दिया।

भाजपा और जदयू ने मांझी के बयान की निंदा की

जीतनराम के बयान पर भाजपा नेता और मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि ओछी राजनीति के लिए आजम का समर्थन करना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने लोकसभा में देशभर की महिलाओं का अपमान किया है। राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि आजम खान सीनियर लीडर हैं। अगर नीयत साफ थी तो उन्हें खेद व्यक्त करने में क्या हर्ज है। किसी महिला को आपसे परेशानी है तो सॉरी बोलकर विवाद खत्म कीजिए।

मुझमें आजम जैसे नेताओं से निपटने की हिम्मत: रमा देवी

रमा देवी ने शनिवार को कहा, ''मुझमें आजम जैसे नेताओं से निपटने की हिम्मत है। मैं जिस कुर्सी पर बैठी थी, उस वक्त मेरे लिए बोली गई भाषा देश की हर नारी का अपमान है। सपा अध्यक्ष अखिलेश की भाषा में भी साफ तौर पर अहंकार झलकता है। आजम की टिप्पणी के बाद हुई सर्वदलीय बैठक का फैसला सोमवार को आएगा।''