कश्मीर से ध्यान बंटाने के लिए पाकिस्तान ने गुजरात के सरक्रीक इलाके के सामने एसएसजी कमांडो को तैनात किया है. पाकिस्तान ने इकबाल-बाजवा पोस्ट पर अपने कमांडो को तैनात किया है.

 

 

कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया और डरा हुआ है. कश्मीर से ध्यान बंटाने के लिए पाकिस्तान ने अब नई साजिश रची है. सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान ने गुजरात के सरक्रीक इलाके के सामने एसएसजी कमांडो को तैनात किया है. पाकिस्तान ने इकबाल-बाजवा पोस्ट पर अपने कमांडो को तैनात किया है.

सूत्रों के मुताबिक आशंका जताई जा रही है कि पाकिस्तान अपने कमांडो का इस्तेमाल वहां तैनात भारतीय सुरक्षा बलों के खिलाफ ऑपरेशन करने के लिए कर सकता है.

सूत्रों के मुताबिक एसएसजी कमांडो भारतीय सेना के खिलाफ बॉर्डर एक्शन टीम की मदद के कार्रवाई करेंगे. पाकिस्तान लंबे समय से जम्मू-कश्मीर और एलओसी इलके में भारतीय सेना के खिलाफ कार्रवाई करता रहा है.

जम्मू और कश्मीर की तरह ही भारत और पाकिस्तान के बीच सरक्रीक विवाद लंबे समय से रहा है. सरक्रीक विवाद 1960 के दशक में शुरू हुआ था. सर क्रीक विवाद दरअसल 60 किलोमीटर लंबी दलदली ज़मीन का विवाद है जो भारतीय राज्य गुजरात और पाकिस्तान के राज्य सिंध के बीच स्थित है.

सरक्रीक पानी के कटाव के कारण बना है और यहां ज्वार भाटे के कारण यह तय नहीं होता कि कितने हिस्से में पानी रहेगा और कितने में नहीं.

आजादी के बाद जब दोनों देशों के बीच बंटवारा हुआ तो पाकिस्‍तान ने सर क्रीक खाड़ी पर अपना मालिकाना हक जता दिया. इस पर भारत ने एक प्रस्‍ताव तैयार किया था जिसमें समुद्र में कच्‍छ के एक सिरे से दूसरे सिरे तक सीधी रेखा खींची और कहा कि इसे ही सीमारेखा मान लेनी चाहिए. यह प्रस्‍ताव पाकिस्‍तान ने ठुकरा दिया, क्‍योंकि इसमें 90 फीसदी हिस्‍सा भारत को मिल रहा था.