डीएलएड 2019-20 सत्र में सीधा प्रवेश 12 से 16 सितंबर तक होगा। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय एलनगंज की ओर से भेजे गए प्रस्ताव को शासन से मंजूरी मिल गई है। अंतिम तिथि 30 अगस्त तक डीएलएड की 229150 सीटों में से 1,04,728 सीटें खाली थीं। डायटों से 1,24,422 सीटों पर प्रवेश की सूचना मिली है।

46 प्रतिशत सीटें खाली होने के कारण निजी डीएड कॉलेज के प्रबंधक परेशान थे। छात्रसंख्या कम होने पर उनके लिए खर्चा निकालना मुश्किल होता है। इसीलिए निजी कॉलेज सीधे प्रवेश के लिए अवसर देने का दबाव बना रहे थे। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि जिन अभ्यर्थियों का किन्हीं कारणों से प्रवेश नहीं हो सका है, उन्हें एक और मौका दिया गया है।

12 से 16 सितंबर तक एनआईसी की वेबसाइट पर ऑनलाइन कॉलेज का विकल्प देकर प्रवेश ले सकेंगे। कॉलेजों को प्रतिदिन लिए गए प्रवेश की रिपोर्ट देनी होगी।

17 सितंबर तक पूरी रिपोर्ट मांगी गई है। 2019-20 सत्र के लिए कक्षाएं 6 अगस्त से ही शुरू हो चुकी है। नये प्रवेश लेने वाले अभ्यर्थियों के लिए अतिरिक्त कक्षाएं चलाकर कोर्स पूरा कराया जाएगा।

प्रतिशत सीटें खाली होने से निजी डीएड कॉलेज के प्रबंधक थे परेशान

अगस्त तक डीएलएड की 229150 सीटों में से 1,04,728 सीटें खाली थीं

डीएलएल 2019-20 सत्र ’ शासन ने दी अनुमति, किसी भी कॉलेज में दाखिले का विकल्प ’ अंतिम प्रवेश के बाद एक लाख से अधिक सीटें हैं अभी खाली



►  हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है