• केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे। फाइल

 

  • अधिकारी ने शिकायत में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर दुर्व्यवहार और गलत ढंग से बातचीत करने का आरोप लगाया
  • भाजपा कार्यकर्ता को गुंडा होने का नोटिस भेजने पर थाना प्रभारी पर भड़क गए थे केंद्रीय मंत्री

बक्सर. भाजपा नेता और केंद्रीय परिवार एवं कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी चौबे के खिलाफ एक पुलिस अधिकारी ने शिकायत दर्ज कराई है। केंद्रीय मंत्री ने रविवार को जनता दरबार में पुलिस अधिकारी को वर्दी उतरवाने की धमकी दी थी। अधिकारी ने शिकायत में केंद्रीय मंत्री पर दुर्व्यवहार और गलत ढंग से बातचीत करने का आरोप लगाया है। बक्सर एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने शिकायत दर्ज होने की पुष्टि की है। इस पूरे घटनाक्रम का एक वीडियो भी वायरल हुआ था।

जानकारी के मुताबिक,  भोजपुर थाने के प्रभारी ने डुमरांव थाने में केंद्रीय मंत्री के खिलाफ सनहा (शिकायत) दर्ज कराई है। दरअसल, जनता दरबार में एक भाजपा कार्यकर्ता पर हुई कार्रवाई को लेकर केंद्रीय मंत्री भड़क गए थे। उन्होंने सभी के सामने ही पुलिस अधिकारी को फटकार लगाई। जब पुलिस अधिकारी ने जवाब देने की कोशिश की तो मंत्री ने उन्हें डांटते हुए चुप करा दिया था और कहा कि आपकी वर्दी उतर सकती है। भविष्य में इस प्रकार का कोई काम मत करिएगा। 

मंत्री ने पूछा था- आपसे किसने कहा था
जनता दरबार में मंत्री ने पुलिस अफसर से पूछा था कि क्या आपने गुंडा देखा है? फिर वहां मौजूद एक भाजपा कार्यकर्ता की ओर अंगुली दिखाते हुए पूछा था- ये गुंडा है? 100 रुपए का नोटिस दिया है इनको। 'किसने कहा था तुमको ऐसा करने के लिए? बताओ?

मंत्री बोले-मैंने पुलिस अधिकारी से कहा कि किसी को गुंडा कहना ठीक नहीं
हालांकि, जब बाद में मामला सुर्खियों में आया तो अश्विनी चौबे ने अपनी सफाई दी। उन्होंने कहा- मामला 2003 का है। भाजपा और दूसरे दलों के कार्यकर्ताओं ने भ्रष्टाचार और अपराध के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। विरोध प्रदर्शन करने वालों को प्रशासन ने गुंडा बताया है। मैंने पुलिस अधिकारी से कहा कि किसी को गुंडा कहना ठीक नहीं है।




►  हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है