खुफिया अलर्ट के बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कई संदिग्धों के ठिकानों पर छापेमारी की

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट- पाकिस्तान ने 3000 नागरिकों को एलओसी लांघने के लिए तैयार किया

सेना के सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान सेना एलओसी के पास मार्च निकालने की योजना बना रही है

 

 

नई दिल्ली. पाकिस्तान के आतंकी संगठन त्योहारी सीजन में राजधानी दिल्ली में हमले की फिराक में हैं। खुफिया एजेंसियों को आतंकी मसूद अजहर के संगठन जैश-ए-मोहम्मद की साजिश से जुड़े इनपुट मिले हैं। बताया जा रहा है कि दिल्ली-एनसीआर में जैश के चार से पांच आतंकी मौजूद हैं। उधर, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जम्मू-कश्मीर के अखनूर सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास एक घुसपैठिये को पकड़ा।

रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकी रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और मार्केट जैसे भीड़ वाले इलाकों को निशाना बना सकते हैं। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल बुधवार रात से छापेमारी कर रही है। कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

पाकिस्तान सेना ने मार्च निकालने की योजना बनाई

भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने अनुच्छेद 370 को हटाए जाने को लेकर बाधा उत्पन्न करने के लिए 4 अक्टूबर को कब्जे वाले कश्मीर के स्थानीय नागरिकों के साथ एलओसी के निकट मार्च करने की योजना बनाई है। भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना के इस प्रयास को विफल करने के लिए पूरी तैयारी कर रखी है। 

370 हटने से आतंकी भड़के, भारत में हमला कर सकते हैं: अमेरिका
इससे पहले अमेरिका के सहायक रक्षा मंत्री रैंडल शाइवर ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने के बाद आतंकी भड़के हुए हैं। अगर पाकिस्तान आतंकी गुटों पर लगाम कसने में नाकाम रहा तो आतंकी भारत में हमला कर सकते हैं। पाक आतंकी गुटों पर कितनी नजर रखेगा, यह चिंता की बात है।

खुफिया रिपोर्ट्स सामने आईं

  • गृह मंत्रालय की रिपोर्ट में मुताबिक, 3000 पाकिस्तानी नागरिकों को एलओसी लांघने को तैयार किया गया है। सर्दी शुरू होने से पहले पाकिस्तान उन्हें एलओसी पार कराना चाहता है। आईबी के मुताबिक, एलओसी पर 32 पाकिस्तानी चौकियों पर आतंकी जमे हुए हैं। वे पाक सेना के संरक्षण में हैं, इसलिए बार-बार फायरिंग हो रही है।
  • पंजाब में ड्रोन से हथियार भेजने पर एजेंसियों ने बताया है कि ये हथियार गैंगस्टर्स को भेजे गए हैं। खालिस्तानी मूवमेंट के लोगों को पाक से फंडिंग की जा रही है। अमृतसर एयरपोर्ट को सेना के हवाले कर दिया है। ड्रोन से हथियार भेजने की जांच एनआईए को सौंपी गई है। पंजाब पुलिस ने मंगलवार रात खालिस्तानी आतंकी साजनप्रीत सिंह बिट्टा को पकड़ा था। वह पाकिस्तान में बैठे आतंकी रणजीत सिंह बिट्टा के संपर्क में था।

अलगाववादियों को पाक उच्चायोग से फंडिंग हुई: चार्जशीट
एनआईए ने आतंकियों और अलगाववादियों को मिलने वाली आर्थिक मदद की जांच में पाकिस्तान की सीधी भूमिका का दावा किया है। एनआईए गुरुवार को तीसरी चार्जशीट दायर करने जा रही है। एनआईए के दो अधिकारियों के अनुसार हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी, शब्बीर शाह, यासीन मलिक, असिया अंद्राबी और मसरत अालम को नई दिल्ली स्थित पाक उच्चायोग से पैसा मिला है।




►  हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है