नोएडा में खुले में शौच और पेशाब करना 38 लोगों को महंगा पड़ गया। नोएडा विकास प्राधिकरण ने बुधवार को ऐसे 38 लोगों पर 4,200 रुपये का जुर्माना लगाया है।

नोएडा प्राधिकरण के जन स्वास्थ्य विभाग के उप महाप्रबंधक एस.सी. मिश्रा ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान के तहत नोएडा प्राधिकरण ने शहर को खुले में शौच से मुक्त करने का अभियान चला रखा है। इसी के तहत खुले में शौच व मूत्र करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। 

उन्होंने बताया कि तीन अक्टूबर से लेकर आज तक इस अभियान के तहत खुले में शौच व मूत्र करने पर 27,000 रुपये का जुर्माना वसूला गया है। उन्होंने बताया कि नोएडा में जगह-जगह निशुल्क शौचालयों का निर्माण किया गया है। इसके बावजूद भी लोग खुले में शौच करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

मिश्रा ने बताया कि बुधवार को सेक्टर 5, 9 ,10 ,11 ,74,94 तथा 124 एवं नयाबास गांव में यह अभियान चलाया गया। उन्होंने बताया कि इसके अलावा सेक्टर 15, 25, 26, 27, 62 और सेक्टर 88 में सड़कों पर घूम रहे 15 गोवंश को पकड़कर सेक्टर 135 स्थित गौशाला भेजा गया है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक के खिलाफ भी अभियान चलाया जा रहा है इसके तहत अभी तक 3,55,400 रुपये का जुर्माना वसूला गया तथा 3,092 किलो पॉलिथीन जप्त की गई है। उन्होंने शहर के लोगों से अपील की है कि वे खुले में शौच ना करें तथा एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक के प्रयोग से परहेज करें।



►  हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है

►  अपने व्हाट्स एप पे खबर पाने के लिए लिंक पे क्लिक करे