पूरे देश में लोकसभा के चुनाव 7 चरणों में हो रहे हैं। इन्हे सुरक्षित तरीके से सम्पन्न कराने के लिए 20 लाख से अधिक राज्य पुलिसकर्मी और होमगार्ड के साथ ही अर्धसैनिक बलों के 2.7 लाख से अधिक जवान तैनात किए गए हैं। सोमवार को देश के 9 राज्यों की 72 सीटों पर चुनाव होगा। इसके लिए 943 प्रत्याशी मैदान में हैं।  

गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि भारत में पहली बार चुनाव के दौरान इतनी बड़ी संख्या सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग के सुझाव के बाद लोकसभा चुनाव में अर्धसैनिक बलों की 2,710 कंपनियां तैनात की गईं। अर्धसैनिक बलों की एक कंपनी में 100 कर्मी होते हैं।

इसके अलावा 20 लाख से अधिक पुलिसकर्मी और होमगार्ड भी मतदान केन्द्रों, मतदान कर्मियों के वाहनों और 'स्ट्रांग रूम की निगरानी के लिए तैनात किए गए हैं। 'स्ट्रांग रूम में ईवीएम को कड़ी सुरक्षा में रखा जाता है। इस संबंध में एक अन्य अधिकारी ने बताया कि अर्धसैनिक बल के अधिकतर जवान केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षाबल (सीआईएसएफ) और भारतीय रिजर्व बटालियन (आईआरबी) से लिए गए हैं।  लोकसभा चुनाव के लिए मतदान 11 अप्रैल को शुरू हुआ था और यह 19 मई को सम्पन्न होगा। मतगणना 23 मई को होगी।