चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा कि ‘बेल्ट एंड रोड फोरम’ के द्वितीय सम्मेलन में 64 अरब डॉलर से अधिक के कुल 283 सहयोग करार पर हस्ताक्षर किए गए। इस सम्मेलन का शनिवार को समापन हो गया। 

इससे पहले उन्होंने गोल मेज सम्मेलन को संबोधित करते हुए नेताओं से बेल्ट एंड रोड मुहिम की परियोजनाओं के उच्च गुणवत्तायुक्त विकास के लिए सभी पक्षों की ओर से संयुक्त प्रयास किए जाने की अपील की।

इस बार फोरम में शामिल होने वालों में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रमुख क्रिस्टिन लगार्ड, विश्वबैंक की प्रमुख और कई अन्य अफ्रीकी एवं एशियाई देशों के प्रमुख शामिल रहे। भारत और अमेरिका ने फोरम का बहिष्कार किया।

विकास का साझा रास्ता है बेल्ट एंड रोड मुहिम 
चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शनिवार को कहा कि ‘बेल्ट एंड रोड मुहिम’ (बीआरआई) से दुनियाभर में सभी को फायदा होगा। फोरम के समापन पर उन्होंने कहा कि इससे साझा विकास का रास्ता प्रशस्त होगा।चिनफिंग ने द्वितीय ‘बेल्ट एंड रोड फोरम’ में 37 देशों के प्रमुखों को गोलमेज सम्मेलन में संबोधित किया। उन्होंने कहा कि बीआरआई निश्चित तौर पर खुला, स्वच्छ और पर्यावरण के अनुकूल होना चाहिए और इसे उच्च मानक एवं लोगों पर केंद्रित टिकाऊ रुख अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसे संयुक्त राष्ट्र के टिकाऊ विकास एजेंडा का पालन करना चाहिए।